Prohibited Drug Injections : नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन की खेप सहित नशा तस्कर गिरफ्तार, 3500 नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन बरामद

44
Prohibited Drug Injections
नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन की खेप सहित नशा तस्कर गिरफ्तार, 3500 नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन बरामद
India News (इंडिया न्यूज), Prohibited Drug Injections : पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत के मार्गदर्शन में पानीपत जिला पुलिस द्वारा नशे के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम के अंतर्गत कार्रवाई करते हुए एंटी नारकोटिक्स सेल पुलिस की टीम ने गांव गांजबड़ में घर से एक नशा तस्कर को नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन की खेप सहित गिरफ्तार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की। आरोपी के पास से 3500 नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन बरामद किये गए है। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर खरीदार को भी गिरफ्तार किया।

Prohibited Drug Injections : गुप्त सूचना पर हुई कार्रवाई

एंटी नारकोटिक्स सेल इंचार्ज सब इंस्पेक्टर संदीप ने बताया कि उनकी टीम वीरवार को देर शाम गश्त व जांच पड़ताल के दौरान टोल प्लाजा के पास मौजूद थी। टीम को तभी गुप्त सूचना मिली कि गांव गांजबड़ निवासी राजपाल अपने घर पर नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन रखकर बेच रहा है। सूचना को पुख्ता मानते हुए पुलिस टीम ने ड्यूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार पानीपत वीरेंद्र गिल को साथ लेकर मौके पर दबिश दी तो एक युवक घर के बाहर खड़ा दिखाई दिया। युवक पुलिस टीम को देखकर तेज कदमों से चलने लगा। पुलिस टीम ने युवक को काबू कर पूछताछ की तो उसने अपनी पहचान राजपाल पुत्र रघबीर निवासी गांजबड़ के रूप में बताई।

तुड़े के कमरे से नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन की खेप बरामद

पुलिस टीम ने नियमानुसार ड्यूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार वीरेंद्र गिल की उपस्थिति में युवक के घर की तलाशी ली तो अंदर बने तुड़े के कमरे से नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन की खेप बरामद हुई। बरामद इंजेक्शन की गिनती करने पर 500 बुप्रेनॉफिन, 1400 पेंटाजोसाइन ओजैटसेल, 1600 पेंटाज़ोसाइन पेफ्लिन नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन पाए गए।

आरोपी युद्धवीर खुद इंजेक्शन लगाने का आदी

सब इंस्पेक्टर संदीप ने बताया की पूछताछ में आरोपी ने उक्त नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन शॉर्टकट तरीके से पैसे कमाने की चाहत में करहंस गांव निवासी दुष्यंत से 70 रुपए प्रति इंजेक्शन के हिसाब से खरीद कर लाने बारे स्वीकारा। आरोपी ने पूछताछ में पुलिस को बताया गांव निवासी युद्धवीर पुत्र भीम सिंह उससे 120 रुपए प्रति इंजेक्शन के हिसाब से खरीदकर ले जाता है। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर युद्धवीर को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 7 नशीले प्रतिबंधित इंजेक्शन बरामद किये। आरोपी युद्धवीर ने पूछताछ में पुलिस को बताया वह खुद इंजेक्शन लगाने का आदी है।

आरोपी राजपाल को 3 दिन के पुलिस रिमांड पर किया हासिल

सब इंस्पेक्टर संदीप ने बताया की आरोपियों के खिलाफ थाना सदर में एनडीपीएस एक्ट के तहत अभियोग दर्ज कर पुलिस ने शुक्रवार को दोनों आरोपियों को माननीय न्यायालय में पेश किया जहां से आरोपी युद्धवीर को न्यायिक हिरासत जेल भेजा गया व आरोपी राजपाल को 3 दिन के पुलिस रिमांड पर हासिल किया। रिमांड के दौरान पुलिस आरोपी से गिरोह में शामिल अन्य आरोपियों बारे पूछताछ व सप्लायर के ठिकानों का पता लगा पकड़ने का प्रयास करेंगी।