Haryana Lok Sabha Election Result 2024 : 223 लोकसभा उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला आज

174
Haryana Loksabha Results 2024
हरियाणा की लोकसभा सीटों पर काउंटिंग पूरी, 5 सीटों पर कांग्रेस का हाथ रहा मजबूत तो 5 पर खिला कमल
  • आज दोपहर तक साफ हो जाएगी तस्वीर

डॉ. रविंद्र मलिक, India News Haryana (इंडिया न्यूज), Haryana Lok Sabha Election Result 2024 : लोकसभा चुनाव 2024 के लिए खत्म होने के बाद हरियाणा की 10 सीटों का एग्जिट पोल सामने आ चुके हैं। अलग-अलग एजेंसियों के एग्जिट पोल में सामने आया है कि इस बार साल 2019 के लोकसभा चुनाव की तुलना भाजपा और कांग्रेस में मुकाबला कड़ा नजर आ रहा है और अनुमानित तौर पर सत्ताधारी भाजपा के लिए अबकी बार लोकसभा चुनाव की डगर थोड़ी कठिन नजर आ रही है।

Haryana Lok Sabha Election Result 2024 : सबकी नज़रें आज घोषित होने वाले नतीजे पर

पिछली बार भाजपा ने सभी 10 सीटों पर कब्जा जमाया था। ये भी बता दें कि पिछली बार के लोकसभा चुनाव 2019 के एग्जिट पोल में हरियाणा की 10 सीटों में से भाजपा को 6 से 8 सीटें और कांग्रेस को 2 से 4 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया था, लेकिन चुनाव परिणाम के नतीजों ने अनुमानों को गलत साबित कर दिया और भाजपा ने 10 की 10 सीटों पर कब्जा जमा लिया था। ऐसे में अब सबकी नज़रें आज घोषित होने वाले लोकसभा चुनाव के नतीजे पर टिकी है, क्योंकि अक्टूबर माह में होने वाले विधानसभा चुनाव भी कहीं न कहीं लोकसभा चुनाव के नतीजे से प्रभावित होने तय हैं।

223 उम्मीदवार हैं मैदान में, आज होगा किस्मत का फैसला

हरियाणा में लोकसभा की 10 सीटें करनाल, हिसार, कुरुक्षेत्र, गुरुग्राम, फरीदाबाद, सिरसा, रोहतक, अंबाला, भिवानी महेंद्रगढ़ और सोनीपत हैं। इस बार के लोकसभा चुनाव में हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों पर 2 करोड़ 76 हजार 768 मतदाता और कुल 223 प्रत्याशी हैं. सभी प्रत्याशी की किस्मत का फैसला आज होना है। हरियाणा की सभी 10 सीटों पर मतदान 25 मई को हुआ था। राज्य में लोकसभा-2024 के लिए अब कुल 223 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं, जिनमें 207 पुरुष और 16 महिला उम्मीदवार शामिल हैं।

इसके अतिरिक्त, करनाल विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव होगा, जिसके लिए अब कुल 9 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। अंबाला लोकसभा क्षेत्र में कुल 14 उम्मीदवार हैं, जिनमें 12 पुरुष और 2 महिला उम्मीदवार शामिल हैं। इसी प्रकार, कुरुक्षेत्र लोकसभा क्षेत्र में कुल 31 उम्मीदवार हैं, जिनमें 30 पुरुष और 1 महिला उम्मीदवार शामिल हैं। सिरसा लोकसभा क्षेत्र में 19 उम्मीदवार (18 पुरुष और 1 महिला उम्मीदवार), हिसार लोकसभा क्षेत्र में 28 उम्मीदवार (25 पुरुष और 3 महिला), करनाल लोकसभा क्षेत्र में कुल 19 उम्मीदवार (17 पुरुष और 2 महिला) और सोनीपत लोकसभा क्षेत्र में 22 उम्मीदवार (पुरुष) हैं।

उन्होंने आगे बताया कि रोहतक लोकसभा क्षेत्र में कुल 26 उम्मीदवार (24 पुरुष व 2 महिला), भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र में 17 उम्मीदवार (15 पुरुष व 2 महिला), गुरुग्राम लोकसभा क्षेत्र में 23 उम्मीदवार (22 पुरुष व 1 महिला) तथा फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र में कुल 24 उम्मीदवार (22 पुरुष व 2 महिला) हैं। इसके अतिरिक्त, करनाल विधानसभा सीट के लिए 9 उम्मीदवार (पुरुष) हैं।

ग्रामीण एरिया से कांग्रेस और भाजपा को शहरी वोटर्स से आस

राजनीतिक जानकारों का मानना है कि इस बार हरियाणा में बेशक पिछली दफा की तुलना में 5% से ज्यादा काम पोलिंग हुई लेकिन इस बार भाजपा को मुख्य डेंट ग्रामीण एरिया में किसानों के गुस्से और जाटों की नाराजगी से लग सकता है। शहरों की तुलना में ग्रामीण एरिया में ज्यादा वोटिंग में माना जा रहा है कि किसान और जाटों ने बीजेपी के खिलाफ पोलिंग की है। इस बार किसानों के गुस्से के कारण कुछ सीटों का नुकसान हो सकता है। हरियाणा में किसानों और जाटों की भाजपा से नाराजगी किसी से छिपी नहीं है और लंबे समय से सत्ताधारी भाजपा और किसान व जाट वर्ग में तल्खी जारी है। वहीं दूसरी तरफ यह भी माना जा रहा है कि भाजपा शहरों में कांग्रेस को पीछे छोड़ सकती है। भगवा पार्टी का पारंपरिक वोट मुख्य रूप से शहरों में है।

समीक्षा बैठकों में भाजपा और कांग्रेस कम से कम खुद को चार-चार सीट पर जीता हुआ मान रहे

यह भी बता दें पोलिंग के बाद भाजपा और मुख्य वि पक्षी दल कांग्रेस ने समीक्षा बैठकों का आयोजन किया था। भाजपा की समीक्षा बैठक में मिले इनपुट के आधार पर यह सामने आया कि भाजपा खुद को चार सीटों पर विजय मानकर चल रही है। इन सीटों में करनाल, गुरुग्राम, फरीदाबाद और हिसार शामिल हैं। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस खुद को रोहतक, सोनीपत, सिरसा और भिवानी महेंद्रगढ़ सीट पर जीता हुआ मन रही है।

हालांकि एजेंसियों के जो एग्जिट पोल सामने आए हैं वह कुछ अलग कहानी बयां कर रहे हैं। कई सीटों पर तो कांग्रेस और भाजपा में कड़ी टक्कर बताई जा रही है। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि अबकी बार जो वोटिंग पैटर्न रहा है वह बड़े-बड़े धुरंधरों को झटका दे सकता है। वहीं दूसरी तरफ यह भी बता दें कि भाजपा के कई उम्मीदवारों ने अपनी ही पार्टी के नेताओं पर चुनाव में भीतरघात के आरोप लगाए हैं

हरियाणा में 64.8 प्रतिशत मतदान हुआ

छठे चरण में 25 मई को सभी 10 संसदीय सीटों पर मतदान के साथ, भारतीय चुनाव आयोग (ईसीआई), हरियाणा ने 64.8 प्रतिशत मतदान दर्ज किया। सेवा मतदाताओं को छोड़कर कुल 20076768 में से 7027301 पुरुष और 5982815 महिलाओं सहित 13010201 मतदाताओं ने लोकतंत्र के उत्सव में अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। अधिकतम मतदान के मामले में सिरसा और अंबाला शीर्ष स्थान पर रहे।

सिरसा संसदीय क्षेत्र में सबसे अधिक 69.77% मतदान हुआ। इसके बाद अंबाला संसदीय क्षेत्र में 67.34% और कुरुक्षेत्र में 67.01% मतदान हुआ। इसी तरह फरीदाबाद में 60.52%, हिसार में 65.27%, सोनीपत में 63.44%, रोहतक में 65.68%, भिवानी-महेंद्रगढ़ में 65.39%, करनाल में 63.74% और गुड़गांव में 62.03% मतदान हुआ। कुल मतदान प्रतिशत 64.8 %

लोकसभा सीट मतदाता मतदान (प्रतिशत में)

1. अंबाला 67.34

2.भिवानी-महेंद्रगढ़ 65.39

3. फरीदाबाद 60.52

4.गुरुग्राम 62.03

5.हिसार 65.27

6.करनाल 63.74

7.कुरुक्षेत्र 67.01

8.रोहतक 65.68

9.सोनीपत 63.44

10.सिरसा 69.77

यह भी पढ़ें : Haryana Lok Sabha Election Result : मतगणना 4 जून को प्रातः 8 बजे शुरू होगी

यह भी पढ़ें : Internal Attack in BJP-Congress : रिजल्ट आने के बाद भीतरघात करने वालों पर कार्रवाई करेगी भाजपा और कांग्रेस