Haryana Roadways Strike खत्म, देर रात बनी सहमति, सड़कों फिर दौड़ने लगी बसें

211
HRTC Will Buy 500 Buses

इंडिया न्यूज, Haryana News (Haryana Roadways Strike): सोनीपत के कुंडली में रोडवेज कर्मचारी हत्याकांड के विरोध में रोडवेज यूनियन साझा मोर्चा (roadways union) द्वारा हड़ताल की गई कि जिसके कारण कल पूरे हरियाणा में बसों के पहिये थमे रहे।

बता दें कि लगभग 2000 बसें नहीं चली, जिस कारण परिवहन विभाग को करोड़ों का नुकसान हुआ। मालूम रहे कि कल परिवहन मंत्री मूल चंद शर्मा (Mool Chand Sharma) के साथ हरियाणा रोडवेज कर्मचारी साझा मोर्चा की वार्ता हुई जोकि विफल रही। साझा मोर्चे का कहना था कि मृतक कर्मचारी के परिवार के एक आश्रित को नौकरी दी जाए, मृतक की पत्नी जब तक 58 वर्ष की आयु की नहीं हो जाती, तब तक उसे पूरा वेतन दिया जाए और 50 लाख का अतिरिक्त मुआवजा मिले। उधर, आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर जान देने वाले जगबीर के बेटे संदीप का परिजनों ने पोस्टमार्टम कराने से इन्कार कर दिया है।

स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम का गठन

आपको जानकारी दे दें कि रात 11 बजे रोडवेज यूनियन की दूसरे दौर की वार्ता हुई। बैठक परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा की अध्यक्षता में बैठक हुई। इस दौरान वार्ता सिरे चढ़ने के बाद रोडवेज ने हड़ताल खत्म कर दी। वार्ता में सहमति बनी कि हत्यारों को पकड़ने के लिए एसआईटी (SIT) गठित कर दी गई है।

जल्द से जल्द हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा और मृतक के भाई के लड़के को नौकरी दे दी जाएगी। वहीं परिवार को 10 लाख की नगद आर्थिक सहायता और 50 लाख की अलग से आर्थिक सहायता के लिए सीएम से सिफारिश की जाएगी

जानिए पूरा मामला

दो दिन पहले दिल्ली डिपो की बस को एक थार बार-बार ओवरटेक कर रहा था, जिस पर बस चालक जगबीर सिंह (48) ने उन्हें बार-बार आगे-पीछे गाड़ी चलाने का कारण पूछा तो इस पर थार सवार तैश में आ गए और थार जीप सवार युवकों ने चालक जगबीर सिंह को कुचल दिया।

इस हादसे में चालक जगबीर ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था। वहीं जब बेटे संदीप को इस मामले के बारे में पता चला तो वह काफी सदमे में चला गया। शमशानघाट में ही बेटे ने जहर निगल लिया था जिस कारण उसकी भी मौत हो गई थी। दो दिन में 2 मौत होने के कारण परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

आरोपियों को लिया हिरासत में

पुलिस अधीक्षक हिमांशु गर्ग (SP Himanshu Garg) ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए डीएसपी विपिन कादियान के नेृतत्व में विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित की थी। पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में लिया है। आरोपी सोनीपत के एक शिक्षण संस्थान के छात्र बताए जा रहे हैं। आरोपियों की जानकारी देने वाले को 50 हजार रुपए का ईनाम भी रखा गया था।

यह भी पढ़ें : Sonali Phogat Murder Case Update : गोवा सरकार की बड़ी कार्रवाई, विवादास्पद कर्लीज क्लब ढहाया

यह भी पढ़ें : India Covid Cases Today : 6,093 नए कोरोनावायरस संक्रमित मरीज सामने आए

यह भी पढ़ें : Building Collapse in Delhi : निर्माणाधीन इमारत ढहने से कई लोग दबे, इतने लोगों ने तोड़ा दम

Connect With Us: Twitter Facebook