Robbery At Gunpoint In Bank Mitra Branch : पीएनबी बैंक की मित्र शाखा में गन पॉइंट पर हुई लूट की वारदात का महज 48 घंटे के दौरान पर्दाफाश

28
Robbery At Gunpoint In Bank Mitra Branch
पीएनबी बैंक की मित्र शाखा में गन पॉइंट पर हुई लूट की वारदात का महज 48 घंटे के दौरान पर्दाफाश
  • सरगना समेत 6 आरोपी गिरफ्तार, वाहन लूट की 3 अन्य वारदातों का खुलासा
  • बदमाशों ने बैंक की मित्र शाखा में रेकी कर दिया था वारदात को अंजाम
  • वारदात में प्रयुक्त 1 देसी पिस्तौल, 1 जिंदा रौंद व लूटी गई 1 बाइक व 1 कार बरामद

India News Haryana (इंडिया न्यूज), Robbery At Gunpoint In Bank Mitra Branch : पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत के मार्गदर्शन में कार्रवाई करते हुए सीआईए थ्री पुलिस टीम ने बलजीत नगर में स्थित पीएनबी बैंक की मित्र शाखा में गन पॉइंट पर हुई लूट की वारदात का महज 48 घंटे के दौरान पर्दाफाश कर गिरोह के सरगना समेत 6 आरोपियों को गिरफ्तार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की।

वाहन लूट की 3 अन्य वारदातों का खुलासा हुआ

आरोपियों की पहचान प्रशांत 28 निवासी पुरखास, अजय 23 निवासी कारद हाल शेखपुरा, साहिल 21 निवासी पुगथला, प्रिंस 23 निवासी जुआ, मोहित 29 निवासी कुंडली सोनीपत व केशव 18 निवासी घूप सिंह नगर पानीपत के रूप में हुई। आरोपी केशव ने 10वी कक्षा तक व अन्य सभी आरोपियों ने 12वी कक्षा तक पढ़ाई की है। आरोपी मोहित की यह पहली वारदात थी बाकी पांच आरोपियों का पहले भी आपराधिक रिकॉर्ड होना पाया गया है। आरोपियों ने पीएनबी बैंक की मित्र शाखा से गन पॉइंट पर करीब 4 लाख रुपए लूटे थे। इस वारदात के अतिरिक्त आरोपियों से वाहन लूट की 3 अन्य वारदातों का खुलासा हुआ।

विभिन्न पहलुओं पर जांच शुरू कर दी थी

पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत ने सोमवार को कैंप ऑफिस में प्रेसवार्ता कर उक्त प्रकरण की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि गत शुक्रवार को सुबह बलजीत नगर में स्थित पंजाब नैशनल बैंक की मित्र शाखा में नकाबपोश बदमाशों द्वारा हथियार के बल पर लूट की वारदात को अंजाम दिया गया था। वारदात की सूचना मिलते ही तीनों सीआईए व थाना चांदनी बाग पुलिस की टीम ने मौके पर पहुंचकर विभिन्न पहलुओं पर जांच शुरू कर दी थी और हरीश पुत्र इंद्र सिंह निवासी बलजीत नगर की शिकायत पर थाना चांदनी बाग में अभियोग दर्ज कर कानूनी कार्रवाई अमल में लाई गई थी।

ब्रांच में 4 नकाबपोश लड़के हथियारों सहित लूट करने के लिए घुस गए

थाना चांदनी बाग में हरिश ने पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि उसने बलजीत नगर में पंजाब नैशनल बैंक कि मित्र शाखा खोली हुई है। शाखा में विकास पुत्र तुकनारायण को भी काम पर रखा है। 14 जून को विकास ब्रांच में बैठा था और वह साथ लगते भाई के मेडिकल स्टोर पर बैठा हुआ था। तभी अचान पड़ोसी नन्हे ने आकर बताया कि ब्रांच में 4 नकाबपोश लड़के हथियारों सहित लूट करने के लिए घुस गए है।

वह भाई प्रदीप के साथ ब्रांच में पहुंचा तो देखा नकाबपोश बदमाशों ने नौकर विकास को डराकर कुर्सी पर बैठा रखा था और सारा पैसा बैग में डाल रखा था। बदमाशों के हाथ में बर्फ तोड़ने वाले सुए भी थे। दोनों भाइयों ने बदमाशों का विरोध किया तो एक बदमाश ने प्रदीप के हाथ पर सुआ मार दिया। भीड़ को इक्कठी होते देख आरोपी अपनी बाइक को मौके पर छोड़कर पैसों से भरा बैग लेकर हवा में हथियार लहराते हुए मौके से फरार हो गए।

पुलिस की 6 टीमों गठीत की थी

पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में आते ही उन्होंने आरोपियों की धरपकड़ के लिए 6 टीमें गठीत की थी। आरोपी वारदात को अंजाम देने के लिए जिस बाइक पर सवार होकर आए थे वह बाइक मौके पर ही छोड़कर फरार हो गए थे। जांच के दौरान उक्त बाइक 5 जून को सोनीपत के गन्नौर थाना क्षेत्र के छीनी हुई पाई गई थी। वारदात बारे थाना गन्नौर में अभियोग दर्ज है।

चारों आरोपी जेल से बेल पर

उन्होंने बताया कि गठीत की सभी टीमें विभिन्न पहलुओं पर गहनता से जांच कर रही थी। सीआईए थ्री पुलिस टीम ने रविवार को देर शाम मिली गुप्त सूचना पर दबिश देकर सोनीपत के जुआ गांव से गिरोह के सरगना सहित 6 बदमाशों को काबू करने में कामयाबी हासिल की। आरोपियों की पहचान प्रशांत निवासी पुरखास, अजय निवासी कारद हाल शेखपुरा, साहिल निवासी पुगथला, प्रिंस निवासी जुआ, मोहित निवासी कुंडली सोनीपत व केशव निवासी घूप सिंह नगर पानीपत के रूप में हुई। पूछताछ में आरोपियों ने लूट की उक्त वारदात को अंजाम देने बारे स्वीकारा।

पूछताछ में आरोपियों से खुलासा हुआ गिरोह का सरगना आरोपी प्रशांत है। प्रशांत, अजय, साहिल व प्रिंस की दोस्ती सोनीपत जेल में हुई थी। आरोपी प्रशांत सोनीपत में 19 लाख रूपये लूट की वारदात में, अजय व प्रिंस हत्या की वारदात में व साहिल लूट की वारदात में सोनीपत जेल में बंद था। चारों आरोपी अलग अलग समय में जेल से बेल पर बाहर आए थे।

वारदात को अंजाम देने से एक दिन पहले रेकी की

पुलिस अधीक्षक श्री अजीत सिंह शेखावत ने बताया कि आरोपी केशव व मोहित आरोपी प्रशांत के दोस्त है। केशव के परिवार का बलजीत नगर में स्थित पीएनबी बैंक की मित्र शाखा में खाता है। इसलिए उसका बैंक कि मित्र शाखा में आना जाना होता था। आरोपी केशव को जानकारी थी की बैंक की मित्र शाखा में काफी कैश रहता है। आरोपी केशव ने इसकी जानकारी साथी आरोपी प्रशांत को दी। आरोपी प्रशांत ने अन्य साथी आरोपियों के साथ मिलकर बैंक मित्र शाखा में लूट की साजिश रची और 13 जून को केशव के साथ मिलकर बैंक मित्र शाखा की रेकी की।

14 जून को सभी आरोपी गन्नौर से मोहित की पोलो कार में व एक बाइक पर सवार होकर देशी पिस्तौल व बर्फ तोड़ने वाले सुए से लैस होकर पानीपत आए। यहा सेक्टर-25 बाइपास पर कार को खड़ी कर केशव व मोहित को कार के पास छोड़ दिया। आरोपी प्रशांत, अजय, साहिल व प्रिंस मुहं पर कपड़ा लपेट कर बाइक पर सवार होकर बलजीत नगर में पहुंचे और बैंक की मित्र शाखा में लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद सभी वापिस कार में सवार होकर फरार हो गए थे।

3 दिन के पुलिस रिमांड पर

पूछताछ में आरोपियों ने उक्त वारदात के अतिरिक्त वाहन लूट की 3 अन्य वारदातों को अंजाम देने बारे स्वीकारा। आरोपियों ने 5 जून को सोनीपत के थाना गन्नौर क्षेत्र में एक युवक से गन पॉइंट पर एचएफ डीलक्स बाइक छीनी। वारदात बारे गन्नौर थाना में अभियोग दर्ज है। 6 जून को पानीपत थाना सदर क्षेत्र में आईओसीएल के कर्मचारी से गन पॉइंट पर एक होंडा कार छीनी, 16 जून को थाना चांदनी बाग क्षेत्र में गन पॉइंट पर एक युवक से प्लेटिना बाइक छीनी।

पानीपत की उक्त दोनों वारदातों बारे संबंधित थाना में अभियोग दर्ज है। आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयुक्त 1 देसी पिस्तौल, 1 जिंदा रौंद व लूटी गई 1 बाइक व 1 कार बरामद कर गहनता से पूछताछ करने व लूटी गई नगदी बरामद करने के लिए पुलिस टीम ने सोमवार को सभी आरोपियों को माननीय न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें 3 दिन के पुलिस रिमांड पर हासिल किया।

यह भी पढ़ें : Robbery in Broad Daylight in PNB : पानीपत पीएनबी शाखा में दिन दहाड़े लाखों की लूट

यह भी पढ़ें : Haryana Severe Heat : प्रदेेशभर में गर्मी का कहर, 6 जिलों में लू का रेड अलर्ट