West Bengal Violence : हिंसा ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा करने के बाद बिप्लब देब ने कहा- ममता बनर्जी ने लोकतंत्र और बंगाल की संस्कृति को कलंकित किया

49
West Bengal Violence
हिंसा ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा करने के बाद बिप्लब देब ने कहा- ममता बनर्जी ने लोकतंत्र और बंगाल की संस्कृति को कलंकित किया
  • ममता बनर्जी की अराजकता को भाजपा बर्दाश्त नहीं करेगी और लोकतांत्रिक तरीके से जवाब भी देगी
  • सांसद व त्रिपुरा के पूर्व सीएम बिप्लब कुमार देब की अगुवाई में भाजपा की चार सदस्यीय टीम ने पश्चिम बंगाल के 7 जिलों की स्थिति का लिया जायजा

India News Haryana (इंडिया न्यूज), West Bengal Violence : सांसद एवं त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब की अगुवाई में कोलकाता पहुंची भाजपा सांसदों की चार सदस्यीय टीम ने हिंसा ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा किया। इस दौरान टीम ने 7 जिलों में जाकर स्थिति का जायजा लिया और राजनीतिक हिंसा का शिकार हुए लगभग 400 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर उनका हाल चाल जाना।

भाजपा सांसदों ने अस्पतालों में जाकर घायल हुए लोगों से भी मुलाकात भी की। इस दौरान बिप्लब देब एवं उनकी टीम में शामिल पूर्व केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद, राज्यसभा सांसद एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी बृजलाल और सांसद कविता पाटीदार ने निर्वासित जीवन जी रहे सभी भाजपा कार्यकर्ताओं को भरोसा दिलाते हुए कहा कि पूरा भाजपा परिवार हर स्थिति में कार्यकर्ताओं के साथ है।

West Bengal Violence : भाजपा इस अराजकता को बर्दाश्त नहीं करेगी

मीडिया से बातचीत करते हुए बिप्लब देब ने कहा कि माँ, माटी और मानुष के नाम पर पश्चिम बंगाल की सत्ता पर काबिज मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोकतंत्र और बंगाल की संस्कृति को कलंकित किया है। ममता सरकार ने पुलिस और प्रशासन का इस्तेमाल कर लोकतंत्र की हत्या कर बंगाल के इतिहास में एक काला अध्याय लिखा है। टीएमसी के समर्थकों ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला कर उनकी हत्या करके अपनी क्रूरता का परिचय दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा ममता बनर्जी की इस अराजकता को बर्दाश्त नहीं करेगी और लोकतांत्रिक तरीके से इसका उचित जवाब भी दिया जाएगा।

West Bengal Violence
West Bengal Violence

टीएमसी कार्यकर्ताओं की क्रूरता ने मानवता को शर्मसार किया

देब ने कहा कि कूच बिहार में कई स्थानों का दौरा करने पर हिंसा की जो तस्वीर सामने आई है वह बड़ी भयानक है। टीएमसी कार्यकर्ताओं की क्रूरता ने मानवता को शर्मसार किया है, महिलाएं और बच्चे भी राजनीतिक क्रूरता से नहीं बच सके। बिप्लब कुमार देब ने कहा कि टीएमसी के कार्यकर्ताओं द्वारा की गई हिंसा के बाद गांव के गांव खाली हो गए और लोगों को घर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा। देब ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को निशाने पर लेते हुए कहा कि जिस प्रदेश की सीएम महिला हो वहां महिलाओं के साथ घिनौनी हरकतें और रेप जैसी घटनाएं हो यह शर्म की बात है। उन्होंने कहा कि रेप पीड़ित महिलाओं की एफआईआर तक दर्ज नहीं की गई है।

पश्चिम बंगाल के हालात काफी खराब

सांसद देब ने आरोप लगाते हुए कहा कि घर में घुसकर दलित समाज की महिला के साथ बलात्कार किया गया। पीड़ित महिला की कहीं सुनवाई तक नहीं हो रही। पश्चिम बंगाल के हालात काफी खराब हो चुके हैं। देब ने कहा कि भाजपा अपने कार्यकर्ताओं के साथ खड़ी है। पत्रकार द्वारा पूछे गए एक सवाल पर बोलते हुए बिप्लब देब ने कहा कि चुनाव के दौरान देश में कहीं ऐसी घटनाएं नहीं हुई जहां पॉलिटिकल कारणों से रेप हुआ हो। लोकसभा का चुनाव पूरे देश में शांतिपूर्वक संपन्न हुए, लेकिन पश्चिम बंगाल में टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने ऐसे हालात पैदा कर दिए हैं कि भाजपा के कार्यकर्ता अपनी जान बचाने छिपते फिर रहे हैं। बिप्लब देब ने एक अन्य सवाल का जवाब देते हुए कहा कि चुनाव लोकतंत्र की प्रक्रिया है।

टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने जानबूझकर भय और दहशत का माहौल बनाया

उन्होंने कहा कि मैं भी सांसद हूं और हाल में लगभग 6 लाख 12 हजार से अधिक वोटों से जीतकर निर्वाचित हुआ हूं। त्रिपुरा में भाजपा की सरकार बनने के बाद कोई राजनीतिक हिंसा व रेप जैसी घटनाएं नहीं हुई। चुनाव में हार जीत होती रहती है, लेकिन पश्चिम बंगाल में टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने जानबूझकर भय और दहशत का माहौल बनाया हुआ है। उन्होंने कहा कि उनकी टीम ने हिंसा ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा किया है। दौरा के दौरान जो भी हालात सामने आए हैं उनकी रिपोर्ट भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को सौंपी दी जाएगी।

यह भी पढ़ें : PM Modi’s Big Decision Regarding Farmers : तीसरी बार प्रधानमंत्री बनते ही देशभर के किसानों को मोदी की बड़ी सौगात, पहले ही दिन इस फाइल पर किए साइन

यह भी पढ़ें : NEET Paper Leak Controversy : सुप्रीम कोर्ट ने एनटीए की सीबीआई जांच वाली याचिका पर नोटिस किया जारी