Minister Aseem Goyal : हरियाणा में सभी नेशनल हाईवे से ख़त्म होंगे ब्लैक स्पॉट, मंत्री असीम गोयल ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से की मुलाकात

18
Minister Aseem Goyal
हरियाणा में सभी नेशनल हाईवे से ख़त्म होंगे ब्लैक स्पॉट, मंत्री असीम गोयल ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से की मुलाकात

India News Haryana (इंडिया न्यूज), Minister Aseem Goyal : हरियाणा के परिवहन तथा महिला एवं बाल विकास मंत्री असीम गोयल ने कहा कि हरियाणा में सभी नेशनल हाईवे से ब्लैक स्पॉट समाप्त किए जाएंगे, ताकि दुर्घटना का खतरा न रहे। उन्होंने यह जानकारी नई दिल्ली में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मुलाक़ात के बाद दी। परिवहन मंत्री ने केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री मनसुख मंडविया से भी मुलाकात की और अंबाला शहर में 100 बैड के ईएसआई अस्पताल के लिए बजट जारी करने पर चर्चा की।

Minister Aseem Goyal : ब्लैक स्पॉट को लेकर मंत्री नितिन गडकरी से की चर्चा

असीम गोयल ने बताया कि उन्होंने राज्य में नेशनल हाईवे पर कुछ स्थानों पर बने ब्लैक स्पॉट को लेकर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से चर्चा की है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री को बताया अम्बाला जिला में हाईवे पर सुल्तानपुर चौक और जड़ौत चौक दुर्घटना के लिए ब्लैक स्पॉट बन चुके हैं।

यहां पर आए दिन कोई न कोई सड़क दुर्घटना होती है जिसमें कई बार लोगों की जान भी चली गई है। उन्होंने नितिन गडकरी से इन दोनों स्थानों पर अंडरपास तथा एलिवेटेड ओवरब्रिज बनाने की मांग की जिस पर केंद्रीय मंत्री ने इस मामले में सकारात्मक कार्रवाई करने का आश्वासन देते हुए कहा कि केंद्र सरकार का प्रयास है कि देशभर में हाईवे पर बने ब्लैक स्पॉट की पहचान करके उनका समाधान किया जाए।

अंबाला शहर में 100 बैड के अस्पताल के लिए बजट जारी करने का आग्रह

साथ ही असीम गोयल ने केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री मनसुख एल. मंडाविया से भी मुलाकात की और अंबाला शहर में 100 बैड के ईएसआई अस्पताल के लिए बजट जारी कर जल्द से जल्द इसको बनवाने का आग्रह किया। उन्होंने बताया कि इस अस्पताल के लिए शहर में जगह तो दी जा चुकी है परन्तु अभी तक बजट का प्रावधान नहीं किया गया है।

परिवहन मंत्री ने बताया कि अंबाला में विज्ञान एवं इलेक्ट्रॉनिक सामान के अलावा अन्य कई उद्योग धंधे हैं जहां पर हजारों श्रमिक काम करते हैं। किसी प्रकार की दुर्घटना होने या बीमार होने पर श्रमिकों को दूर दराज के अस्पतालों में ईलाज के लिए जाना पड़ता है। उन्होंने कहा कि ईएसआई अस्पताल बनने से श्रमिकों को सस्ता ईलाज करवाने की सुविधा मिलेगी। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री मनसुख एल. मंडाविया ने इस मामले में जल्द ही कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

किसानों को समझा कर शंभु बॉर्डर को खुलवाने की मांग

वहीं दूसरी ओर मंत्री असीम गोयल ने केंद्रीय कृषि मंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी मुलाकात की और धरने पर बैठे किसानों को समझा कर शंभु बॉर्डर को खुलवाने की मांग की। उन्होंने केंद्रीय कृषि मंत्री को आंदोलन और उसके कारण होने वाले दुष्प्रभावों की जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इन आंदोलनरत किसानों से बातचीत करके इनको बॉर्डर का रास्ता खुलवाने के लिए मनाना चाहिए। इससे जहां आस पास के लोगों को राहत मिलेगी वहीं व्यापारियों को भी अपने कामकाज में आसानी होगी। केंद्रीय कृषि मंत्री चौहान ने परिवहन मंत्री को आश्वासन दिया कि केंद्र सरकार इस मुद्दे को लेकर गंभीर है और जल्द ही कार्रवाई करेगी।

यह भी पढ़ें : Stir In Haryana Politics : भाजपा तीसरी बार सत्ता में आने और कांग्रेस सत्ता से वनवास खत्म करने को लेकर कर रही मंथन

यह भी पढ़ें : SBI Jobs 2024: SBI में ऑफिसर पद पर की निकली भर्ती, जानें कितनी मिलेगी सालाना सैलरी