Section 144 in Delhi : किसान आंदोलन के चलते दिल्ली में 1 माह के लिए धारा 144 लागू

71
Section 144 in Delhi
किसान आंदोलन के चलते दिल्ली में 1 माह के लिए धारा 144 लागू
  • हरियाणा-पंजाब बॉर्डर की सभी सीमाएं सील

India News (इंडिया न्यूज़), Section 144 in Delhi, नई दिल्ली : पंजाब-हरियाणा के 26 किसान संगठनों के 13 फरवरी के कूच को लगातार हड़कंप मचा हुआ है। हालात ऐसे हो गए हैं कि हरियाणा के कई जिलों में जहां नेट बंद कर दिया गया है वहीं प्रदेश के 15 जिलों में धारा 144 भी लागू कर दी गई है। हालातों के मद्देनजर ही दिल्ली में एक महीने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके आदेश दिल्ली के पुलिस कमिश्नर संजय अरोड़ा ने जारी किए हैं। ट्रैक्टरों की दिल्ली में पूर्णत: एंट्री बंद कर दी गई है।

टीकरी बॉर्डर पर भी कड़ी सुरक्षा

किसानों के दिल्ली कूच की घोषण को लेकर हरियाणा-पंजाब सीमा पर कड़े सुरक्षा प्रबंध कर दिए गए हैं। हरियाणा के बहादुरगढ़ में टीकरी बॉर्डर पर किलेबंदी कर दी गई है। इस बॉर्डर पर 5 लेयर की सुरक्षा व्यवस्था की गई है ताकि इस सीमा से भी पंजाब के किसान दिल्ली सीमा में घुस न सकें, साथ ही किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पैरामिलिट्री और पुलिस बल तैनात किया गया है।

इतना ही नहीं, हाईक्वालिटी के कैमरे और साउंड सिस्टम भी लगाए गए हैं। टीकरी बॉर्डर पर लोहे के बैरिकेड के अलावा भारी भरकम पत्थर भी लग चुके हैं। कुल मिलाकर कहा जाए तो किसानों को हर कीमत पर दिल्ली रोकने के बंदोबस्त किए गए हैं। इधर पंजाब के साथ लगते शंभू बॉर्डर को पूरी तरह से सील किया जा चुका है। इतना ही नहीं हालात पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी भी लगा दिए गए हैं।

जानिए ये हैं किसानों की मांगें

  • एमएसपी पर गारंटी कानून बनाया जाए।
  • पिछले आंदोलन में मारे गए किसान परिवारों के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए।
  • किसानों पर दर्ज मामले वापस लिए जाएं।
  • लखीमपुर खीरी कांड के दोषियों को सजा दी जाए।
  • डॉ. स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के हिसाब से कीमत तय हो।
  • किसान खेत मजदूरों का कर्जा माफ हो, पेंशन दी जाए।
  • भूमि अधिग्रहण अधिनियम 2013 दोबारा लागू किया जाए।