Fraud In The Name Of Sending Abroad : विदेश भेजने के नाम पर लाखों रुपयों की ठगी एवं युवक को विदेश में बंधक बनाकर रखा 

29
Fraud In The Name Of Sending Abroad
विदेश भेजने के नाम पर लाखों रुपयों की ठगी एवं युवक को विदेश में बंधक बनाकर रखा 
  • पीड़ित परिवार ने मुख्यमंत्री हरियाणा को भेजी शिकायत
  • तीन के आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज 
India News Haryana (इंडिया न्यूज), Fraud In The Name Of Sending Abroad : अंबाला जिले के झारु माजरा गांव में विदेश भेजने के नाम पर 20.66 लाख रुपए की ठगी एवं युवक को विदेश में बंधक बनाकर रखे जाने का मामला सामने आया है। पीड़ित परिवार ने मुख्यमंत्री हरियाणा को शिकायत भेजी, जिसके बाद मुलाना थाने की पुलिस ने कार्रवाई शुरू की तीन आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया।

Fraud In The Name Of Sending Abroad : विनोद ने बताया अमेरिका की चल रही है विशेष स्कीम

जानकारी मुताबिक अंबाला जिले के झारु माजरा गांव निवासी मुल्तान सिंह के साथ एक बड़ा धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। मुल्तान सिंह का सपना था कि उनका बेटा अमेरिका जाकर एक बेहतर जीवन व्यतीत करे। इसी उद्देश्य से वह एक एजेंट की तलाश में थे, जो उनके बेटे को सुरक्षित और कानूनी तरीके से अमेरिका भेज सके। इसी दौरान, जींद के गांव रामराई निवासी विनोद कुमार का उनके गांव में आना-जाना था। विनोद कुमार ने खुद को एक एजेंट बताया और कहा कि वह मुल्तान सिंह के बेटे को अमेरिका भेज सकता है। विनोद कुमार ने मुल्तान सिंह को बताया कि इस समय अमेरिका की विशेष स्कीम चल रही है, जिसके तहत उनके बेटे को अमेरिका भेजा जा सकता है, लेकिन इसके लिए 20.66 लाख रुपए का खर्च आएगा।

यह कहकर टाल दिया गया कि उनका बेटा रास्ते में है और जल्द ही अमेरिका पहुंच जाएगा

मुल्तान सिंह ने अपने बेटे के भविष्य के लिए यह रकम जुटाने का फैसला किया। उन्होंने अपना खेत बेच दिया और 5 लाख रुपए अपने भाई से उधार लिए। इस तरह से उन्होंने 20.66 लाख रुपए का इंतजाम किया और यह रकम विनोद कुमार को दे दी। विनोद कुमार ने मुल्तान सिंह के बेटे को सानेगन का वीजा लगवाकर विदेश भेज दिया। वहां पहुंचने पर उनके बेटे को एक कमरे में चार महीने तक बंधक बनाकर रखा गया। जब मुल्तान सिंह ने विनोद कुमार से अपने बेटे के बारे में पूछा तो उन्हें यह कहकर टाल दिया गया कि उनका बेटा रास्ते में है और जल्द ही अमेरिका पहुंच जाएगा।

पूरी घटना की शिकायत मुख्यमंत्री हरियाणा को भेजी,आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज

कुछ समय बाद मुल्तान सिंह को समझ में आया कि उनके साथ धोखाधड़ी हुई है। विनोद कुमार ने उनके बेटे के माध्यम से कुछ पैसे भी वापस मंगवाए। जब मुल्तान सिंह के बेटा अमेरिका नहीं पहुंचा और कोई संपर्क नहीं हो पाया, तब उन्होंने किसी तरह से 1.80 लाख रुपए खर्च करके अपने बेटे को वापस भारत बुलाया। वहीं मुल्तान सिंह ने इस पूरी घटना की शिकायत मुख्यमंत्री हरियाणा को भेजी। शिकायत के आधार पर मुलाना थाने की पुलिस ने विनोद कुमार, कविता और संजू उर्फ सुधरा गोदारा के खिलाफ धारा 406 (विश्वासघात), 420 (धोखाधड़ी) और 506 (धमकी) के तहत केस दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।